केतन एनजीओ के आंधियाशेरी, चिनियाशेरी, बरूडि़याशेरी में हुए जनसंवाद में महिलाओं ने बयां किया अपना दुख-दर्द - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Monday, October 22, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • केतन एनजीओ के आंधियाशेरी, चिनियाशेरी, बरूडि़याशेरी में हुए जनसंवाद में महिलाओं ने बयां किया अपना दुख-दर्द
    - आप लोग मुझे अपनी बहू या बेटी जो भी मानें, मैं आप लोगों की दु:ख-तकलीफों में हर वक्त साथ हूं : अमी पटेल - केतन एनजीओ ने बेहद जरूरतमंद 65 विधवाओं को दिया अनाज-राशन
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 16 मई। केतन एनजीओ एवं डॉ.रमणीकलाल मेडिकल रिलीफ एण्ड रिसर्च ट्रस्ट ने आज आंधिया शेरी, चिनिया शेरी और बरूडिया शेरी में जनसवांद किया। तीनों शेरियों में हुए जनसंवाद में करीब 200 लोग की उपस्थिति रही। इस मौके पर केतन एनजीओ एवं डॉ.रमणीकलाल मेडिकल रिलीफ एण्ड रिसर्च ट्रस्ट के प्रमुख केतन पटेल एवं उपप्रमुख अमी पटेल ने सबका हाल-समाचार जाना। साथ ही केतन एनजीओ द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी स्कीमों के बारे में उपस्थितजनों को बताया। अधिक से अधिक जरूरतमंद लोगों को संस्थागत स्कीमों से लाभान्वित करने पर भी चर्चा हुई । मौजूद लोगों ने रोजी-रोजगार,घर-मकान, राशन, दवा-पानी, देखभाल, बच्चों की पढ़ाई-लिखाई जैसी समस्याएं केतन पटेल एवं अमी पटेल के समक्ष रखी। काफी महिलाओं का कहना था कि कई सरकारी स्कीमों का लाभ नहीं मिल रहा है। कोई देखने-पूछने वाला नहीं है, दौड़-दौड़कर थक गये है हम। वाइस प्रेसिडेंट अमी पटेल ने महिलाओं से कहा कि निराश मत होईये। केतन एनजीओ की स्कीमों से जितना हो सकेगा आप लोगों को लाभान्वित किया जायेगा। दूसरी समस्याओं के निदान की भी कोशिश करेंगे। केतन पटेल अपने स्तर से इस दिशा में प्रयासरत रहेंगे। इस मौके पर बेहद जरूरतमंद 65 विधवा महिलाओं को केतन एनजीओ की तरफ से अनाज-राशन दिया गया। अमी पटेल ने महिलाओं से रूबरू होते हुए कहा कि आप लोग मुझे अपनी बहू या बेटी जो भी मानें, मैं आप लोगों की दु:ख-तकलीफों में हर वक्त साथ हूं। इस जनसंवाद कार्यक्रम के बाद भी माताओं-बहनों की कोई छोटी-बड़ी तकलीफ हो तो वे केतन एनजीओ से संपर्क कर सकती है। हम हरसंभव समस्या दूर करने का प्रयत्न करेंगे।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS