दमण स्वास्थ्य विभाग ने विश्व जनसंख्या दिवस पर बढती जनसंख्या के दुष्परिणामों से लोगों को कराया अवगत - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Thursday, November 15, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दमण स्वास्थ्य विभाग ने विश्व जनसंख्या दिवस पर बढती जनसंख्या के दुष्परिणामों से लोगों को कराया अवगत

    - तेजी से बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने के लिए परिवार नियोजन पर दृढ़तापूर्वक अमल किया जाना जरूरी : लालू पटेल - देश एवं दुनिया के लोगों को बच्चे दो ही अच्छे वाले सिद्धांत को अपनाने की एस. एस. यादव ने दी नसीहत - दामिनी वुमेंस फाउंडेशन ने बेहतरीन लघु नाटिका प्रस्तुत कर जनसंख्या वृद्धि के दुष्परिणामांे को दर्शाया - परिवार नियोजन को बढावा देने में सराहनीय कार्य करने वाली आशा और एएनएम वर्करों को किया गया सम्मानित - चित्रकला प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागियों को मिला पुरस्कार - परिवार नियोजन पखवाडे का हुआ शुभारंभ, 15 दिन तक लोग परिवार नियोजन के बारे में ले सकंेगे जानकारी - दमण जिला पंचायत प्रमुख सुरेश पटेल, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, राष्ट्रीय स्वास्थ मिशन के निदेशिका गुरप्रीत सिंह, प्रोग्राम ऑफिसर डॉ. डी. के. मकवाना, बीडीओ धर्मेश दमणिया, दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सिंपल काटेला, भाजपा नेत्री एवं आशा वुमेंस फाउंडेशन की अध्यक्षा तरुणा पटेल सहित की रही मौजूदगी
    असली आजादी ब्यूरो,
    दमण 11 जुलाई।
    दमण-दीव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य निदेशालय द्वारा आज विश्व जनसंख्या दिवस पर स्वामी विवेकानंद ऑडिटोरियम में जन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर मुख्य रुप से दमण-दीव सांसद लालू पटेल, स्वास्थ्य सचिव एस. एस. यादव, राष्ट्रीय स्वास्थ मिशन के निदेशिका गुरप्रीत सिंह, जिला पंचायत प्रमुख सुरेश पटेल, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सिंपल काटेला, भाजपा नेत्री एवं आशा वुमेंस फाउंडेशन की अध्यक्षा तरुणा पटेल, प्रोग्राम ऑफिसर डॉ. डी. के. मकवाना, बीडीओ धर्मेश दमणिया सहित के अधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ उपस्थित महानुभावों के हाथों दीप प्रज्जवलित करके किया गया। इस कार्यक्रम में सांसद लालू पटेल ने अपना संबोधन देते हुए कहा कि तेजी से बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने के लिए परिवार नियोजन पर दृढ़तापूर्वक अमल किया जाना जरूरी है। लोग छोटे परिवार का महत्व समझें और इसे स्वेच्छा से अपनायें तो बेतहाशा बढ़ती जनसंख्या पर लगाम लगायी जा सकती है। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रमों के आयोजन से लोगों को जागरूक करने में मदद मिलती है। इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए सांसद लालू पटेल ने प्रशासन को धन्यवाद दिया। इसके बाद स्वास्थ्य सचिव एस. एस. यादव ने देश और दुनिया में सुरसा के मुंह की तरह बढ़ती आबादी को चिंताजनक बताते हुए बच्चे दो ही अच्छे वाले सिद्धांत को अपनाने पर बल दिया। एस. एस यादव ने बताया कि यह दिवस सबसे पहली बार 11 जुलाई 1987 को मनाया गया था क्­योंकि इसी दिन विश्­व की जनसंख्­या 5 अरब को पार कर गई थी इसे देखते हुऐ संयुक्त राष्ट्र ने जनसंख्या वृद्धि को लेकर दुनिया भर में जागरूकता फैलाने के लिए यह दिवस मनाने का निर्णय लिया क्­योंकि आज दुनिया के हर विकासशील और विकसित दोनों तरह के देश जनसंख्या विस्फोट से चिंतित हैं। लड़के-लड़की में भेदभाव खत्म करना है परिवार नियोजन के बारे में बात करनी चाहिए, शर्म नहीं करनी चाहिये। महिलायों पर अकेले जिम्मेदारी नहीं होनी चाहिये पुरुषों की भी बराबर जिम्मेदारी होनी चहिये। अपने वक्तव्य में उन्होंने परिवार नियोजन के बारे जानकारी देते हुए कहा कि स्वास्थ्य केन्द्रों और जिला अस्पताल पर इस संबंध में परामर्श लिया जा सकता है। कार्यक्रम के दौरान दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की महिलाओं ने परिवार एक सार्थक कल की शुरुआत, नियोजन के साथ लघु नाटिका प्रस्तुत कर जनसंख्या वृद्धि के दुष्परिणामों और इसे नियंत्रित करने के उपायों को बताया, जिसे लोगों ने खूब सराहा। डॉ. नायर ने पॉवर पोइंट के माध्यम से जनसंख्या बढने और उससे होने बाले प्रॉब्लम के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। दो दिन पहले हुई चित्रकला प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागियों को सांसद लालू पटेल, स्वास्थ्य सचिव एस. एस. यादव, जिला पंचायत प्रमुख सुरेश पटेल, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी के हाथों पुरस्कृत किया गया। इसके साथ ही परिवार नियोजन को बढ़ावा देने में सराहनीय भूमिका निभाने के लिए नर्स बहनों केवडी फलिया की वैशाली पटेल, डुंगरी फलिया की ललिता एवं लिंक वर्कर डोरी कडैया उपकेंद्र की रेनुबेन, घेलवाड फलिया की गीताबेन को उपस्थित महानुभावों ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस कार्यक्रम में स्कूली बच्चों के साथ-साथ स्वास्थ्य कर्मियों एवं नागरिकों की उपस्थिति रही। इस कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ मिशन के निदेशिका गुरप्रीत सिंह ने बताया कि हर वर्ष 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या के अवसर पर परिवार नियोजन के बारे में लोगों को जागरुक किया जाता है। इसी के तहत आज स्वामी विवेकानंद सभागार में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया। उन्होंने बताया कि भारत की आबादी लगभग 1.3 बिलीयन हो गयी है, यदि ऐसे ही जनसंख्या बढती रही तो हम आनेवाले दिनों में चीन को भी पीछे छोड देंगे। गुरप्रीत सिंह ने इस कार्यक्रम में सहभागी बनने के लिए जनप्रतिनिधियों को धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि दामिनी वुमेंस फाउंडेशन ने बेहतरीन लघु नाटिका प्रस्तुत कर लोगों के समक्ष जनसंख्या वृद्धि के दुष्परिणामांे को दर्शाया। संघ प्रदेश प्रशासन अपने प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण के लिए प्रभावी उपाय करने में लगी है।​ आज से परिवार नियोजन पखवाडा भी शुरु किया गया है। जिसके तहत 15 दिनों तक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं स्वास्थ्य सब सेंटरों पर लोगों को परिवार नियोजन के बारे में जानकारी दी जायेगी। इस कार्यक्रम का संचालन मनीष स्मार्ट, डॉ. प्रशांत तिवारी और हिमानी जोशी ने किया।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS