दमण पुलिस ने रेप एवं मर्डर मामले की गुत्थी को सुलझाया: आरोपी चढा पुलिस के हत्थे - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Thursday, November 23, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दमण पुलिस ने रेप एवं मर्डर मामले की गुत्थी को सुलझाया: आरोपी चढा पुलिस के हत्थे
    - डीआईजीपी बी. के. सिंह ने पुलिस टीम के साथ प्रेस कांफ्रेंस कर दी जानकारी - आरोपी ने 29 अगस्त को 6 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के बाद कर डाली थी हत्या - तीसरे दिन दलवाड़ा में नाले के पास झाडियों में मिला था बच्ची का शव - दिन-रात की कडी मेहनत के बाद दमण पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने में पायी सफलता - दमण-दीव एवं दानह डीआईजीपी बी. के. सिंह, दमण एसपी मेघना यादव, एसडीपीओ रविन्द्र कुमार शर्मा, नानी दमण थाना प्रभारी भरत पुरोहित, मोटी दमण कोस्टल थाना प्रभारी सोहिल जीवाणी के नेतृत्व में 15 से 20 पुलिस की टीम ने सुलझाया मामला
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 06 सितंबर। दमण के दलवाडा विस्तार से गुम हुई बच्ची की रेप एवं हत्या के बाद झाडियों से शव मिलने मामले की गुत्थी को दमण पुलिस ने सुलझाते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस संबंध में आज डीआईजीपी बी. के. सिंह ने दमण एसपी मेघना यादव, एसडीपीओ रविन्द्र कुमार शर्मा, नानी दमण थाना प्रभारी भरत पुरोहित, मोटी दमण कोस्टल थाना प्रभारी सोहिल जीवाणी सहित पुलिस टीम की उपस्थिति में प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया को पूरी जानकारी दी। डीआईजीपी बी. के. सिंह ने बताया कि 30 अगस्त को बच्ची के परिजनों ने अपनी 6 वर्षीय बच्ची के गुम होने का मामला दमण पुलिस थाने में दर्ज कराया था। नानी दमण पुलिस ने आईपीसी की धारा 363 के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरु की थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली डीआईजीपी बी. के. सिंह, दमण एसपी मेघना यादव, एसडीपीओ रविन्द्र कुमार शर्मा, नानी दमण थाना प्रभारी भरत पुरोहित, मोटी दमण कोस्टल थाना प्रभारी सोहिल जीवाणी के नेतृत्व में पीएसआई नगीन पटेल, हेड कांस्टेबल कृष्णविजय गोहिल, निलय ठक्कर, विजय मकवाणा, अनिमेष ठक्कर, पुलिस कांस्टेबल सुमित भक्ति, हरेश सोलंकी, स्नेहल सोलंकी, जिग्नेश पटेल, राकेश पटेल, भौतिक बामणिया, केवल पटेल, संदिल सिंह, मौनिक भंडारी, भाविक मिटना, अमित बाजपेई एवं वीरु हलपति की टीम बनाकर अलग-अलग दिशा में जांच के लिए भेजी गयी। प्राथमिक जांच में पुलिस ने बच्ची के नजदीकी रिस्तेदार, पडोसी एवं आसपास के विस्तारों के सीसीटीवी फुटेज चेक किया लेकिन किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं मिली। इसी दौरान 1 सितंबर को दमण दलवाडा विस्तार में नाले के पास झाडियों से एक अज्ञात 6 से 7 वर्षीय बच्ची की लाश पुलिस को बरामद हुई। इसके बाद पुलिस ने शव की बारीकी से जांच कराया जिसमें पता चला कि बच्ची के साथ रेप करने के बाद उसकी हत्या कर दी गयी है। पुलिस टीम ने दलवाडा विस्तार की लगभग 37 चालांे के लगभग 700 रुमांे में जांच की। वहीं 400 से 500 व्यक्तियों से शक के आधार पर पूछताछ की गयी। इसी दौरान धनंजय शिवचरण चतुर्वेदी (19) निवासी प्रवीणभाई की चाल दलवाडा को संदिग्ध पाया गया। जिसकी और अधिक जांच करने पर पता चला कि वह शराब पीने का आदी है। वहीं दूसरी ओर धनंजय शिवचरण चतुर्वेदी का बडा भाई बार-बार पीडित बच्ची के पिता के पास जाकर पूछ रहा था कि उसकी बच्ची मिली की नहीं? इससे धनंजय के उपर शक और गहरा होता गया, जिसके बाद पुलिस ने धनंजय चतुर्वेदी को अपने कब्जे में लेकर सख्ती से पूछताछ की जिसमें धनंजय चतुर्वेदी ने कबूल किया कि 29 अगस्त को बच्ची गणपति पूजा देखने गयी थी, वहीं से उसने बच्ची को बहला-फुसलाकर वेफर एवं फ्रुटी का लालच देकर दलवाडा एरिया की झाडियों में ले गया और रेप के बाद उसकी हत्या कर दी। बच्ची पहचान में ना आये इसके लिये उसके चेहरे को बिगाड दिया था। धनंजय चतुर्वेदी ने अपना गुनाह कबूल किया कि उसी ने बच्ची का रेप और मर्डर किया था। इसके बाद पुलिस ने आरोपी धनंजय चतुर्वेदी को 5 सितंबर को अपनी हिरासत में ले लिया। डीआईजी ब्रजेश कुमार सिंह ने सवालों के जवाब में कहा कि हमारे पास सारे सुबूत हैं, हम इसे सख्त से सख्त सजा दिलायेंगे। उन्होंने बताया कि आरोपी गोरखपुर का रहने वाला है,और मृत बच्ची के गाँव का ही निवासी है। आरोपी यहाँ पिछले छह महीने से अपने बड़े भाई के साथ रहकर दलवाड़ा क्षेत्र की एक कंपनी में लेबर है और अविवाहित है। पुलिस आगे की जांच में जुटी हुई है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 302, पोक्सो एक्ट 4, 5, 201 एवं 363 के तहत मामला दर्ज किया है। डीआईजीपी बी. के. सिंह ने बताया कि हमारा प्रयास है कि चालांे एवं इमारतों में रहने वालों और औद्योगिक ईकाईयों में कार्यरत लोगों की पहचान पुख्ता की जाये। साथ ही उन्होंने विभिन्न चिन्हित विस्तारों में सीसीटीवी कैमेरे लगाने की भी बात कही। उन्होंने अत्याधुनिक टेक्निक वाले सीसीटीवी कैमरें लगाने की जानकारी देते हुए कहा कि इसके माध्यम से हम ऑफिस में बैठे ही ट्राफिक नियमों को तोडने वाले वाहन चालकों का चालान काट सकेंगे।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS